उत्तराखंड: पहले बसें नहीं मिलती थीं, अब सवारियां

उत्तराखंड: पहले बसें नहीं मिलती थीं, अब सवारियां


देहरादून: कोरोना के कारण चलने वाली रोडवेज बसें लगभग 7 महीने तक बंद रहीं। लोग लंबे समय से बसों के संचालन की मांग कर रहे थे। अब बसें पूरी तरह से चालू हो गई हैं। लेकिन, चिंता की बात यह है कि पहले लोगों को बसें नहीं मिल पाती थीं। अब सवारी के लिए बसें उपलब्ध नहीं हैं। परिणामस्वरूप बसों की सेवाएं रद्द करनी पड़ती हैं।

बसों के लिए सवारी नहीं मिल रही है। पिछले दो दिनों से, चंडीगढ़ वोल्वो बस सेवा के लिए एक भी यात्री नहीं आने के कारण देहरादून-चंडीगढ़ की वोल्वो सेवा रद्द करनी पड़ी थी। वहीं, देहरादून-नई दिल्ली मार्ग पर भी सवारियों को बर्खास्त कर दिया गया है। आलम यह है कि एक दिन में चार वोल्वो बस सेवाओं में केवल 40-45 यात्री ही मिल रहे हैं। यह वोल्वो बस सेवा रोडवेज के लिए घाटे का सौदा साबित हो रही है।

पिछले दो दिनों से देहरादून-चंडीगढ़ के लिए कोई यात्री नहीं मिला। नई दिल्ली के लिए आठ वाल्वो बसें चल रही हैं। अब यात्री वॉल्वो बसों के लिए ऑनलाइन बुकिंग भी कर सकते हैं। ऑनलाइन सुविधा भी शुरू की गई है। जिससे लोगों को अपनी सीट बुक करने में आसानी होगी।

The publish उत्तराखंड: पहले बसें नहीं मिलती थीं, अब सवारियां पहली बार दिखीं ख़बर उत्तराखंड न्यूज़ पर