उत्तराखंड से बड़ी खबर: कोरोना की जांच नहीं हो रही, अब सैंपल दिल्ली भेजे जाएंगे!

देहरादून: उत्तराखंड में सैंपलिंग बढ़ने के साथ ही कोरोना की जांच भी लटकने लगी है। अब तक राज्य में 7 हजार से अधिक नमूनों का बैकलॉग किया जा चुका है। जांच रिपोर्ट न होने के कारण लोगों को कुरेंटिन सेंटर में रखना पड़ता है। इससे तीन तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

पहला यह है कि संगरोध केंद्रों में दबाव बढ़ रहा है। दूसरा यह कि संदिग्ध मरीज जिसका नमूना जांच के लिए लिया गया है वह मानसिक तनाव में रह रहा है। तीसरा यह है कि कोरोना की जांच रिपोर्ट में देरी के कारण समय पर इलाज नहीं हो पा रहा है। इससे खतरा यह है कि अगर कोई मरीज पॉजिटिव आता है, तो उसका इलाज भी देर से शुरू होगा।

कोरोना सैंपल की रिपोर्ट आने में देरी के कारण अब हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर जिले से तीन सौ सैंपल जांच के लिए नेशनल सेंटर फॉर डिसीज को भेजे जाएंगे। इस दौरान राज्य में कोरोना की ताजा स्थिति की जांच के लिए केंद्र सरकार की एक टीम उत्तराखंड आई है। जानकारी के अनुसार, टीम रुद्रपुर में व्यवस्थाओं का जायजा भी लेगी।