उत्तराखंड से बड़ी खबर: IAS अधिकारियों के CR मामले में BJP दो खेमों में बंट गई

उत्तराखंड से बड़ी खबर: IAS अधिकारियों के CR मामले में BJP दो खेमों में बंट गई


देहरादून: मंत्री-अधिकारी विवाद को लेकर अब उत्तराखंड में राजनीतिक तूफान एक अलग रूप ले रहा है। मामले में भाजपा में ही एक खेमा अधिकारियों के पक्ष में खड़ा दिखाई दे रहा है। अब सरकार के लिए इस मामले को निपटाना मुश्किल साबित हो रहा है। विपक्ष भी इस पर नजर बनाए हुए है और सही मौके की तलाश में है। बीजेपी को भी डर है कि अगर यह मामला और आगे बढ़ा तो उनके लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं।

एक आउटसोर्सिंग एजेंसी के चयन को लेकर महिला और बाल विकास मंत्री रेखा आर्य और IAS वी। शनमुगम के बीच विवाद हुआ था। विवाद इतना बढ़ गया कि वह वास्तविक मुद्दे से भटक गया और अधिकारियों के सीआर लिखने पर अड़ गया। जब पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने अधिकारियों द्वारा सीआर अधिकारियों के लेखन का मुद्दा उठाया, तो भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भी मंत्री के पक्ष में खड़े हो गए।

अब इस मामले में एक नया मोड़ आया है कि भाजपा विधायक और पूर्व कैबिनेट मंत्री खजान दास ने कहा है कि अधिकारियों का सीआर लिखना विवाद का विषय नहीं बनना चाहिए। उन्होंने कहा है कि एक अधिकारी के पास three से four मंत्रियों के विभाग होते हैं।

ऐसी स्थिति में, यह तय करना मुश्किल है कि किस अधिकारी को अपने सीआर के साथ लिखना है। यह एक व्यावहारिक समस्या है। इसीलिए मुख्यमंत्री मुख्य सचिव की रिपोर्ट के आधार पर अंतिम सीआर लिखते हैं। उन्होंने कहा कि इसे लेकर कोई विवाद नहीं होना चाहिए। आपसी सौहार्द में जनता का हित किया जाना चाहिए।

The put up उत्तराखंड से बड़ी खबर: IAS अधिकारियों के CR मामले में दो खेमों में बंटी BJP appeared first on Khabar उत्तराखंड न्यूज़