डीआईजी के सख्त निर्देश, सिटीजन चार्टर में लापरवाही बर्दाश्त नहीं, प्रभाव दिखता है

डीआईजी के सख्त निर्देश, सिटीजन चार्टर में लापरवाही बर्दाश्त नहीं, प्रभाव दिखता है

previous arrowprevious arrow
next arrownext arrow
PlayPause
Slider

डीआईजी अरुण मोहन जोशी

देहरादून: डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने थानों में लंबित मामलों के निस्तारण के सख्त निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि शिकायती आवेदनों के त्वरित निस्तारण के लिए सिटीजन चार्टर जारी किया गया है। डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने एक दिन पहले सभी सीओ की बैठक ली, जिसका असर दिखने लगा है। बैठक में, उन्होंने कहा था कि शिकायतों को इस चार्टर के अनुसार हल किया जाना चाहिए। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसका असर यह हुआ कि थानों में हड़कंप मच गया।

डीआईजी जोशी ने कहा कि शिकायत आवेदनों के समयबद्ध निस्तारण के लिए बनाई गई प्रक्रिया का सख्ती से पालन किया जाना चाहिए। साथ ही, सर्वोच्च न्यायालय और उच्च न्यायालय से प्राप्त आदेशों और निर्देशों को भी अधिकारियों और कर्मचारियों को अवगत कराया जाना चाहिए। उन्होंने लंबित मुकदमों की समीक्षा के बाद कहा कि सीओ उनकी निगरानी में विचार-विमर्श करेंगे।

इसके अलावा गैंगस्टर एक्ट और अन्य महत्वपूर्ण अभियोगों में वांछित अपराधियों की जल्द गिरफ्तारी के निर्देश भी दिए गए थे। डीआईजी ने एसपी सिटी, एसपी ग्रामीण और एसपी ट्रैफिक को उसी तरह से पेशेवर पुलिसिंग करने के लिए कहा है, जैसे कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर बनाए गए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) को कर्तव्यों के निर्वहन में पूरी पारदर्शिता बनाए रखते हुए।

The submit डीआईजी के सख्त निर्देश, सिटीजन चार्टर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं, असर appeared first on Khabar Uttarakhand Information

previous arrow
next arrow
Slider

previous arrow
next arrow
PlayPause
Slider