सीएम ने कोविद केंद्र का किया निरीक्षण, कहा- हम जल्द ही नियंत्रण की स्थिति में होंगे

सीएम ने कोविद केंद्र का किया निरीक्षण, कहा- हम जल्द ही नियंत्रण की स्थिति में होंगे

देहरादून: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गुरुवार को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम रायपुर, देहरादून में स्थापित कोविद केयर सेंटर का निरीक्षण किया। कोविद -19 मानकों के अनुसार इस कोविद केंद्र में सभी प्रकार की सुविधाएं प्रदान की गई हैं। वर्तमान में इस केंद्र में 750 बिस्तरों की व्यवस्था की गई है। आवश्यकता पड़ने पर इस केंद्र की क्षमता को बढ़ाकर 4000 बेड तक किया जा सकता है। कोविद केयर सेंटर में रहने वाले लोगों के लिए आवश्यक सामग्रियों की एक किट मुफ्त प्रदान की जाएगी। एक दिन में तीन भोजन की व्यवस्था की गई है, जिसमें स्थानीय उत्पादों को प्राथमिकता दी जाती है। आयुष विभाग द्वारा प्रतिरक्षा बढ़ाने के लिए काढ़ा भी उपलब्ध कराया गया है।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में बने इस केंद्र में लोगों के ठहरने के लिए चार मंजिलों की व्यवस्था है। इसमें 38 वार्ड और 750 बेड की व्यवस्था की गई है। कोविद देखभाल केंद्र में, चिकित्सा सुविधाओं के साथ, योग और ध्यान की व्यवस्था की गई है। सुबह विशेषज्ञों द्वारा ऑनलाइन योग और ध्यान कक्षाएं दी जाएंगी। इसके लिए, एलईडी स्क्रीन प्रदान की गई है। कोविद केयर सेंटर में कोविद के मानकों के अनुसार स्वच्छता, थर्मल स्क्रीनिंग, सीसीटीवी कैमरे और अन्य व्यवस्थाएं की गई हैं। परिवार के वार्ड अलग से बनाए जाते हैं। कई मनोरंजन आइटम केंद्र में प्रदान किए जाते हैं।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि कोविद -19 को देखते हुए, राज्य सरकार ने सुरक्षात्मक तरीके से सभी संभव प्रयास किए हैं। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम रायपुर में कोविद को हाई-टेक सुविधाएं प्रदान करने के प्रयास किए गए हैं। सरकार, पुलिस और स्वास्थ्य विभागों के साथ-साथ स्वैच्छिक संगठनों ने भी इसके लिए सहयोग किया है। कोविद -19 को नियंत्रित करना और लोगों को रोजगार के अवसर प्रदान करना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से हैं।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि यहां चार हजार लोगों के ठहरने की व्यवस्था हो सकती है। राज्य में कोविद को नियंत्रित करने के लिए जिस तरह से सतर्कता बरती जा रही है, उम्मीद है कि हम जल्द ही नियंत्रण में होंगे। राज्य में कोरोना पॉजिटिव की रिकवरी दर में वृद्धि हुई है, दोहरीकरण दर में भी सुधार हुआ है। अभी हमारी रिकवरी दर 65 प्रतिशत है और दोहरीकरण दर 25 दिन है।

मौके पर पर्यावरणविद् डॉ। अनिल प्रकाश जोशी, सचिव स्वास्थ्य अमित नेगी, डीजीपी लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार, आईजी फेयर संजय गन्याल, कमांडेंट एसडीआरएफ तृप्ति भट्ट, सीएमओ देहरादून डॉ। वी.सी. रमोला, अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट बीर सिंह बुड़ियाल आदि उपस्थित थे।