प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी युवाओं से राजनीति में निस्वार्थ और रचनात्मक योगदान देने का आग्रह करते हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी युवाओं से राजनीति में निस्वार्थ और रचनात्मक योगदान देने का आग्रह करते हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि युवाओं को निस्वार्थ और रचनात्मक योगदान के लिए राजनीति में आना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह हमारे युवाओं की जिम्मेदारी है कि देश के भविष्य को अपने कंधों पर लेकर चलें।

कल दूसरे राष्ट्रीय युवा संसद समारोह के समापन समारोह में, प्रधान मंत्री मोदी ने कहा कि हमारी राजनीति को युवाओं की आवश्यकता है और सार्थक बदलाव के लिए राजनीति एक रचनात्मक माध्यम है।

जब तक देश का सामान्य युवा राजनीति में प्रवेश नहीं करेगा, तब तक विद्वता का यह जहर हमारे लोकतंत्र को कमज़ोर करता रहेगा। इस देश के लोकतंत्र को बचाने के लिए, आपके लिए राजनीति में प्रवेश करना आवश्यक है और ये जो हमारे युवा विभाग द्वारा लगातार संसद कार्यक्रम चला रहे हैं। युवा मित्रों को देश के मुद्दों पर एक साथ चर्चा करनी चाहिए, देश के युवाओं को भारत के सेंट्रल हॉल में लाया जाना चाहिए। इसके पीछे मकसद यह है कि हम देश की नई युवा पीढ़ी को तैयार करें।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे युवाओं के लिए ऐसा माहौल बनाया जा रहा है ताकि वे अपने सपनों के अनुसार अपनी प्रतिभा का विकास कर सकें। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का मुख्य जोर युवाओं को एक बेहतर व्यक्ति बनाना और एक बेहतर राष्ट्र का निर्माण करना है।

देश में आज लागू की गई नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में बेहतर सूचकांकों के निर्माण पर भी बड़ा ध्यान केंद्रित किया गया है। व्यक्ति निर्माण से राष्ट्र निर्माण तक, यह नीति युवाओं की इच्छा, युवाओं के कौशल, युवाओं की समझ, युवाओं के निर्णय को सर्वोच्च प्राथमिकता देती है। अब आप जो भी विषय चुनते हैं, जो भी आप चुनते हैं, जो भी स्ट्रीम आप चुनते हैं। अगर आप किसी एक कोर्स को ब्रेक देकर दूसरा कोर्स शुरू करना चाहते हैं, तो आप वह भी कर सकते हैं। अब ऐसा नहीं होगा कि आपने पहले के कोर्स के लिए जो मेहनत की थी वह बर्बाद हो जाएगी। आपको उस बहुत सी शिक्षा के लिए एक प्रमाण पत्र भी मिलेगा, जो आपको आगे ले जाएगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार एक ऐसा वातावरण बनाने की कोशिश कर रही है जिसमें युवाओं को जीवन में अच्छे अवसर मिलें।

आज, देश में ऐसी इको-प्रणाली विकसित की जा रही है, जो अक्सर हमारे युवाओं द्वारा विदेशों से मांगी जाती है। वहां की आधुनिक शिक्षा, बेहतर उद्यम अवसर, प्रतिभा को पहचानना, सम्मान प्रणाली स्वाभाविक रूप से उन्हें आकर्षित करती है। अब देश में ही हमारे युवा साथियों को ऐसी व्यवस्था मिलनी चाहिए, इसके लिए भी हम प्रतिबद्ध हैं, हम भी प्रयास कर रहे हैं। आज हमारे युवाओं को खुले दिल से और अपने सपनों के अनुसार अपनी प्रतिभा विकसित करने के लिए एक वातावरण तैयार किया जा रहा है।